Advertisement
    Advertisement

    क्या आपने कभी किसी महत्वपूर्ण चीज़ का बैकअप लिया है? जैसे कि आपके कंप्यूटर या मोबाइल फोन पर मौजूद फ़ाइलें, फोटो, वीडियो, या कोई अन्य डेटा? अगर आपने कभी बैकअप लिया है, तो आप जानते होंगे कि बैकअप क्यों जरूरी है।

    बैकअप एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें किसी डेटा की एक प्रति बनाई जाती है। यह प्रति तब उपयोगी होती है जब मूल डेटा खो जाता है, नष्ट हो जाता है, या दूषित हो जाता है। बैकअप लेने से आप अपने महत्वपूर्ण डेटा को बचा सकते हैं और इसे खोने से होने वाले नुकसान से बच सकते हैं।

    बैकअप लेने के कई तरीके हैं। आप अपने डेटा को एक बाहरी ड्राइव, क्लाउड स्टोरेज, या किसी अन्य सुरक्षित स्थान पर कॉपी कर सकते हैं। बैकअप लेने की आवृत्ति आपके डेटा के महत्व और संभावित नुकसान के जोखिम पर निर्भर करती है।

    बैकअप क्या है? (What is Backup in Hindi)

    Advertisements

    बैकअप एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें किसी डेटा की एक प्रति बनाई जाती है। यह प्रति तब उपयोगी होती है जब मूल डेटा खो जाता है, नष्ट हो जाता है, या दूषित हो जाता है। बैकअप लेने से आप अपने महत्वपूर्ण डेटा को बचा सकते हैं और इसे खोने से होने वाले नुकसान से बच सकते हैं।

    बैकअप के प्रकार

    बैकअप लेने के कई तरीके हैं, जिन्हें मुख्य रूप से दो श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है:

    • पूर्ण बैकअप (Full Backup)
    • भिन्न बैकअप (Differential Backup)

    पूर्ण बैकअप

    पूर्ण बैकअप में, आप अपने सभी डेटा की एक प्रति बनाते हैं। यह आपके डेटा की सबसे हालिया स्थिति की एक पूरी तस्वीर प्रदान करता है। पूर्ण बैकअप लेना सबसे समय लेने वाला और भंडारण स्थान लेने वाला तरीका है, लेकिन यह सबसे विश्वसनीय भी है।

    भिन्न बैकअप

    भिन्न बैकअप में, आप केवल पिछले पूर्ण बैकअप के बाद किए गए परिवर्तनों की प्रति बनाते हैं। यह पूर्ण बैकअप की तुलना में कम समय लेने वाला और भंडारण स्थान लेने वाला तरीका है।

    उदाहरण

    मान लीजिए कि आपके कंप्यूटर पर एक फ़ोल्डर है जिसमें 100 फ़ाइलें हैं। आप सोमवार को एक पूर्ण बैकअप लेते हैं। मंगलवार को, आप एक नई फ़ाइल जोड़ते हैं। बुधवार को, आप दो फ़ाइलों को संपादित करते हैं।

    यदि आप पूर्ण बैकअप लेते हैं, तो आपको मंगलवार और बुधवार को होने वाले सभी परिवर्तनों को बैकअप करना होगा। इसमें 100 फ़ाइलों की प्रतिलिपि बनाना शामिल है, जिसमें मंगलवार को जोड़ी गई नई फ़ाइल और बुधवार को संपादित की गई दो फ़ाइलें शामिल हैं।

    यदि आप भिन्न बैकअप लेते हैं, तो आपको केवल मंगलवार और बुधवार को किए गए परिवर्तनों की प्रतिलिपि बनानी होगी। इसमें नई फ़ाइल और संपादित की गई दो फ़ाइलें शामिल हैं।

    फ़ायदे और नुकसान

    पूर्ण बैकअप

    • फ़ायदे:
      • सबसे विश्वसनीय प्रकार का बैकअप
      • किसी भी समय डेटा को पुनर्प्राप्त करना आसान है
    • नुकसान:
      • सबसे समय लेने वाला और भंडारण स्थान लेने वाला तरीका है

    भिन्न बैकअप

    • फ़ायदे:
      • पूर्ण बैकअप की तुलना में कम समय लेने वाला और भंडारण स्थान लेने वाला तरीका है
    • नुकसान:
      • पूर्ण बैकअप की तुलना में कम विश्वसनीय है
      • डेटा को पुनर्प्राप्त करना थोड़ा अधिक कठिन हो सकता है

    अपने लिए सबसे अच्छा बैकअप प्रकार कैसे चुनें

    आपके लिए सबसे अच्छा बैकअप प्रकार आपके डेटा की मात्रा, महत्व और आपके बजट पर निर्भर करता है।

    यदि आपके पास बहुत अधिक डेटा है, तो आपको एक स्थानीय बैकअप और एक ऑनलाइन बैकअप दोनों करने पर विचार करना चाहिए। यह आपको यह सुनिश्चित करने में मदद करेगा कि आपका डेटा सुरक्षित है, भले ही कोई प्राकृतिक आपदा हो।

    यदि आपके पास कम डेटा है, तो आप केवल एक स्थानीय बैकअप करने पर विचार कर सकते हैं। हालांकि, यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि आपका स्थानीय बैकअप एक सुरक्षित स्थान पर संग्रहीत किया गया है।

    यदि आपके पास सीमित बजट है, तो आप केवल एक स्थानीय बैकअप करने पर विचार कर सकते हैं। हालांकि, यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि आपका स्थानीय बैकअप अक्सर किया जाता है ताकि आप अपने डेटा के नवीनतम संस्करण का बैकअप कर सकें।

    आशा है कि इस लेख में आपने बैकअप के बारे में अच्छी तरह से समझ लिया होगा। बैकअप का मतलब है अपने महत्वपूर्ण डेटा की एक प्रति बनाना ताकि अगर मूल डेटा खो जाए या क्षतिग्रस्त हो जाए तो आप इसे वापस प्राप्त कर सकें।

    बैकअप के कई प्रकार हैं, जिनमें स्थानीय बैकअप, ऑनलाइन बैकअप और ऑफ़लाइन बैकअप शामिल हैं। स्थानीय बैकअप आपके कंप्यूटर के पास एक भौतिक स्थान पर किया जाता है, जैसे कि एक बाहरी हार्ड ड्राइव या सीडी। ऑनलाइन बैकअप आपके डेटा को एक दूरस्थ सर्वर पर संग्रहीत करता है, जिसे आप इंटरनेट से एक्सेस कर सकते हैं। ऑफ़लाइन बैकअप आपके डेटा को एक भौतिक माध्यम पर संग्रहीत करता है जो इंटरनेट से कनेक्ट नहीं है, जैसे कि एक टेप ड्राइव।

    आपके लिए सबसे अच्छा बैकअप प्रकार आपके डेटा की मात्रा, महत्व और आपके बजट पर निर्भर करता है। यदि आपके पास बहुत अधिक डेटा है, तो आपको एक स्थानीय बैकअप और एक ऑनलाइन बैकअप दोनों करने पर विचार करना चाहिए। यदि आपके पास कम डेटा है, तो आप केवल एक स्थानीय बैकअप करने पर विचार कर सकते हैं।

    बैकअप लेना एक महत्वपूर्ण सुरक्षा उपाय है जो आपको अपने डेटा को खोने से बचा सकता है। यदि आपने अभी तक ऐसा नहीं किया है, तो आज ही बैकअप लेना शुरू करें।

    आपके विचारों से हमें सीखने और सुधारने का मौका मिलेगा

    हमें उम्मीद है कि आपको यह लेख पसंद आया होगा। यदि आपके कोई प्रश्न या सुझाव हैं, तो कृपया हमें कमेंट करके बताएं। हम हमेशा अपने पाठकों से सीखने और सुधारने के लिए तैयार रहते हैं।

    धन्यवाद!

    और पढ़ें: बिटकॉइन क्या है : असली सोना या डिजिटल हवा? जानिए इस ‘नए पैसे’ का सच!

    Advertisement
    Share.
    Leave A Reply

    Advertisement

    AdBlocker Detected!

    https://i.ibb.co/9w6ckGJ/Ad-Block-Detected-1.png

    Dear visitor, it seems that you are using an adblocker please take a moment to disable your AdBlocker it helps us pay our publishers and continue to provide free content for everyone.

    Please note that the Brave browser is not supported on our website. We kindly request you to open our website using a different browser to ensure the best browsing experience.

    Thank you for your understanding and cooperation.

    Once, You're Done?