Google Assistant से हट रहे हैं 17 बड़े फीचर्स, जानिए क्यों?
Advertisement

गूगल अपने यूजर्स की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए अपने ऐप्स को अपडेट करता रहता है। इसी सिलसिले में कंपनी ने अपने Google Assistant में कुछ बदलाव किए हैं। कंपनी ने असिस्टेंट में से 17 ऐसे फीचर्स को हटा दिया है जिनका यूजर्स द्वारा ज्यादा इस्तेमाल नहीं किया जाता है। आज हम आपको उन फीचर्स के बारे में बताएंगे।

गूगल असिस्टेंट एक ऐसा फीचर है जिसका इस्तेमाल दुनिया भर में लाखों लोग करते हैं। यह फीचर हमें अपनी आवाज से कई तरह के काम करने में मदद करता है। लेकिन असिस्टेंट में कुछ ऐसे फीचर्स भी हैं जिनका इस्तेमाल लोग ज्यादा नहीं करते हैं। इसलिए गूगल ने उन फीचर्स को हटाने का फैसला किया है।

गूगल ने बताया है कि इन फीचर्स को हटाने का मकसद असिस्टेंट को और बेहतर बनाना है। कंपनी का मानना है कि इन फीचर्स को हटाने से असिस्टेंट की परफॉर्मेंस में सुधार होगा और यूजर्स को बेहतर अनुभव मिलेगा।

ब्लॉग पोस्ट में मिली जानकारी

गूगल ने एक ब्लॉग पोस्ट में जानकारी दी है कि वे Google Assistant को और अधिक उपयोगी बनाना जारी रख रहे हैं। इसके लिए वे आपके पसंदीदा अनुभवों को प्राथमिकता दे रहे हैं और उन्हें और बेहतर बनाने के लिए इनबिल्ड तकनीक में निवेश कर रहे हैं।

Advertisement

इसका मतलब है कि कुछ कम उपयोग की जाने वाली सुविधाओं को अब समर्थन नहीं किया जाएगा।

गूगल ने कुल 17 फीचर्स को रिमूव करने की बात कही है। हम आज इन फीचर्स के बारे में जानेंगे।

Google असिस्टेंट से हट रहे हैं 17 फीचर्स

गूगल ने हाल ही में घोषणा की है कि वह Google असिस्टेंट से 17 फीचर्स को हटा रहा है। इन फीचर्स में से कुछ कम उपयोग में आने वाली सुविधाएं हैं, जबकि कुछ को Google ने बेहतर बनाने के लिए हटाने का फैसला किया है।

हटाए जा रहे फीचर्स में शामिल हैं:

  • Google Play बुक्स पर ऑडियो बुक चलाना और नियंत्रित करना
  • मीडिया अलार्म, म्यूजिक अलार्म या रेडियो अलार्म सेट करना
  • अपनी कुकबुक को एक्सेस करना और प्रबंधित करना
  • स्मार्ट डिस्प्ले और स्पीकर पर स्टॉपवॉच का प्रबंधन करना
  • किसी डिवाइस को कॉल करना या अपने Google फैमिली ग्रुप पर संदेश भेजना
  • ईमेल, वीडियो या ऑडियो संदेश भेजना
  • Google कैलेंडर में किसी ईवेंट को रीशेड्यूल करना
  • Google Maps पर Google Assistant ड्राइविंग मोड में ऐप लॉन्चर का उपयोग करना

इन फीचर्स को हटाने के पीछे के कारण

गूगल का कहना है कि वह इन फीचर्स को हटाकर Google असिस्टेंट को और अधिक उपयोगी और विश्वसनीय बनाना चाहता है। कंपनी का मानना ​​है कि ये सुविधाएं कम उपयोग में आती हैं और उन्हें हटाने से Google असिस्टेंट के अन्य कार्यों पर ध्यान केंद्रित किया जा सकेगा।

और पढ़ें: POCO का धांसू फोन ग्लोबल मार्केट में लॉन्च, 5000mAh बैटरी, 12GB रैम और 64MP कैमरे के साथ है जबरदस्त

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here