Computer Kya Hai | Computer का आविष्कार किसने किया

आज के इस ब्लॉग में हम Computer kya hai (कंप्यूटर क्या है) इसकी जानकारी हिंदी में लेने वाले है जैसे की आज के युग को computer का युग कहा जाता है, क्योकि आज के युग में जादातर कम computer के सहायता से किया जाता है. इस computer ने पूरी दिनिया के लोगो को internet की मदत से आपस में जोड़ दिया है. दोस्तों आप जो मोबाइल फ़ोन इस्तेमाल करते हो वह भी एक प्रकार का computer ही है. तो ऐसे इस computer के बारे में सबको जानकारी होना बोहत ही आवश्यक है.

Computer kya hai

computer एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है. जिसे की program किया जा सकता है अंकगणित या फिर तांत्रिक समस्या को स्वयंचलित रूप से करने के लिए. इसका सरल अर्थ है की आप computer को प्रोग्रम करके कोई भी गणितीय याफिर logical प्रॉब्लम को सुलजा सकते हो.

Computer kya hai
कंप्यूटर क्या है

computer यूजर से data के स्वरुप में input लेता है. उसे process करके यूजर के उनुसार मनचाहा output यूजर को देता है. जैसे की अपने ऊपर देखा computer kya hai.

Computer का आविष्कार किसने किया?

computer का आविष्कार 19 century में Charles Babbage नामक एक प्रसिद्ध Mathematics professor ने किया था. इसलिए उन्हें Father of Computer भी कहा जाता है. Charles Babbage ने पहले mechanical computer की design तयार की थी. जोकि आज के modern computer का basic framework design था.

computer के आविष्कार में जैसे जैसे बढ़ोतरी होती गयी वैसे वैसे उनको generation में विभाजित किया गया. इन्हे computer generation कहा जाता है.

और पढ़े :

१) Gmail id कैसे बनाए | Gmail id Kaise Banaye in Hindi

२) DBMS in Hindi | DBMS क्या है?

Computer generation कौनसी है?

computer generation याने की computer की पीढ़िय. तो चलिए जानते है computer की पीढियों के बारे में.

First generation(पहली पीढ़ी) Vacuum tubes 1940-1950

पहले generation के computer vacuum tubes की सहायता से चलते थे. इनमे मुक्य electronic component vacuum tubes(वच्कुम टूब) थी. magnetic drums और magnetic tapes इस computer में main memory का कम करते थे. यह computer आकार में बोहत बड़े थे लगबग पुरे एक कमरे जितना इसका size था.

इसमे input के लिए punched cards और paper tape का इस्तेमाल होता था. यह काफी slow चलने वाला मशीन था. इसमे programming करने के लिए मशीन language का इस्तेमाल किया जाता था.

इसके कुछ उदहारण ENIAC, UNIVAC1, IBM 650, IBM 701 है.

Second generation(दूसरी पीढ़ी) Transistor 1950-1960

दूसरी generation में computer transistor की मदत से चलते थे. यहापर transistor ने vacuum tubes की जगह लेह ली थी. vacuum tubes के रूप में transistor आकार में कम थे, जिस वजह से उन्हें कम जगह लगती थी. पहली generation के मुकाबले अब computer आकार में कम और तेज चलने लगे थे.

इसमे programming के लिए assembly language का इस्तेमाल किया जाता था. हलाकि इसमे input के लिए अभी भी punch card काही इस्तेमाल होता था.

Third Generation(तीसरी पीढ़ी) Integrated Circuits (ICs) 1960-1970

इस generation में computer के main competent के रूप में पहली बार Integrated Circuits का इस्तेमाल किया गया था, जोकि आकर में बहोत कम थे. इस generation के computer कुछ हद तक आज के computers के तरह दिखने लगे थे. इस generation के computer आकार में कम थे जादा तेज थे और सस्ते भी थे, इन्हें मार्किट में बेचने के लिए launch किया गया था.

इस computers में पहली बार input के लिए keyboard का इस्तेमाल किया गया था, तथा output monitor screen पर दिखाया जाता था. printer का इस्तेमाल करने की शुरुवात computer की तीसरी पीढ़ी से हुई थी.

इसके कुछ उदहारण IBM 360, IBM 370, PDP-11, UNIVAC 1108

Fourth Generation(चौथी पीढ़ी) Microprocessor 1970-Present

Computer की चौथी पीढ़ी में main component के रूप में processor का इस्तेमाल होता है. processor में हजारो transistor बड़े पैमाने पर एकीकृत करके एक छोटी chip में समाहित किया गया. इसके इस्तेमाल से computer की speed कई गुना तेज़ हो गई. साथ ही computer का आकार भी काफी कम हो गया.

इसमे storage के रूप में  semiconductor memory याने RAM(random-access memory) और ROM (read-only memory) का इस्तेमाल होता है. इसमे programming करने के लिए high level language का इस्तेमाल होता है. जैसे की Python, C#, Java, JavaScript, Rust, Kotlin इत्यादी.

Fifth Generation(पांचवीं पीढ़ी) Artificial Intelligence Present-Future

Computer का भविष्य और वर्तमान जिसमे हम जी रहे है, हम अभी computer की पाचवी पीढ़ी में जी रहे है. इस generation में Artificial Intelligence main component है. Artificial Intelligence ka अर्थ है की एक मशीन को सोचने,समजने और निर्णय लेने की काबिलियत देना. जिससे की वो इन्सान के सरे कम क्र सके वोभी स्तिति को पहचानकर.

इस computer की speed बोहत ही तेज है. इस पीढ़ी में self driving car, smart assistance, social media marketing कुछ इस तरहकी application आज के युग बनायीं जाती है.

Computers components कोनसे है?

कंपोनेंट्स याने की computer के विभिन्न अंग जो की computer को चलने में सहायता करते है. यदि इनमेसे एक भी component ना हो तो computer चल नहीं पता. निचे कुछ असेही component की details में जानकारी दी गई है.

1 Mother Board (मदर बोर्ड)

mother board computer me एक मुक्य circuit बोर्ड है. जिसकी सहायता से computer के बाकि के component एक दुसरे के साथ संपर्क करते है. इसके साथ यदि आपको कोई बहार का device computer के साथ कनेक्ट कारना है तो उसके के लिए कनेक्शन mother board प्रदान करता है.

Mother board का मुख्य भाग इसका chip-set होता है. उसकी सहायता सेही mother board की काबिलियत का पता लगाया जा सकता है. mother board मेंही computer का दिमाग कहे जाने वाले processor को फिट किया जाता है.

2 RAM(Random Access Memory)

Ram एक volatile memory है. जहापर डाटा कुछ समय के लिए store किया जाता है. यह एक internal memory है, जोकि mother board पर फिक्स होती है. यह तबतक ही कम करता है,जबतक इसमे पॉवर याने electricity है. जब इसकी power बंद हो जाती है तब इसके अन्दर जो भी data है वो मिट जाता है.

Ram आपकी secondary memory की तुलना में अधिक तेज़ होती है. RAM पास data store करने की काबिलियत नहीं होती. इसीलिए इसे Random Access Memory कहा जाता है.

3 CPU(Central Processing Unit)

CPU computer का मुक्य अंग होता है. जिस तरह इन्सान में उसका दिमाग होता है. उसी तरह computer में CPU दिमाग का कम करता है. CPU mother board पे फिक्स होता है. computer के सरे instruction को process करने का कम CPU करता है.

CPU program में दिए गए निर्देशोके अनुसार अंकगणित,तर्क,नियंत्रण और इनपुट/आउटपुट devices का संचलन करता है. यह external memory , graphics memory के साथ संपर्क बनके उनका इस्तेमाल करता है.

4 Storage(Memory)

यह एक secondary memory होती है जो की permanently data store करने के लिए इस्तेमाल कि जाता है. computer में processing के बाद जोभी data होता है वह external memory में store किया जाता है.

इसके कुछ उदहारण : Hard disk, floppy disk, USB pen drive, CD/DVD

Input और Output devices कोनसे है?

Input devices

जिस device से हम computer को इनपुट याने की कुछ data,जानकारी देते है, उन devices को इनपुट devices कहा जाता है.

Input device:

  • Keyboard
  • Mouse
  • Mike
  • Touch-pad
  • Webcam
  • Bar-code reader

Output devices

जिस devices के सहायता से computer हमें output याने की data बाहर भेजता है उन devices को output devices कहा जाता है.

Output device

  • Monitor
  • printer
  • speaker
  • modem

Computer के प्रकार कोनसे है?

दोस्तों यदि हम computer के बारे में सोचे तो हमारे दिमाग में सिर्फ Desktop याफिर Laptop की तस्वीर सामने आती है. computer के सिर्फ यही प्रकार ना होकर आप जो मोबाइल फ़ोन इस्तेमाल करते है वह भी एक प्रकार का computer है. तो चलिए फिर जानते है computer के कितने और कोनसे प्रकार है.

1 Desktop computer

यह computer का बेसिक version याने computer का सबको पता होने वाला स्वरुप है. जोकि बिजली की सहायता से चलता है. इसे आप कही पर लेकर नहीं जा सकते क्यों की इसको कम करने के लिए हमशा electric power की जरूरत होती है. इसके विभिन्न अंग होते है. जैसे की Monitor,Keyboard,cabinate,mouse इन चीजो को आप हमेशा अपने साथ नहीं ले जा सकते. यह एक non-portable device है.

2 Laptop computer

यह Desktop computer का advance version है. जोकि portable device है. इसे आप कही पर भी carry कर सकते हो क्योकि यह battery की सहायता से चलता है. इसमे भी आपको desktop computer जीतनी ही powerful service मिलाती है.

3 tablet pc

यह computer का सबसे portable प्रकार है. यह आकार में छोटा होता है तो आसानी से आप इसे कही पर भी ले जा सकते हो. इसमे mouse याफिर keyboard की जरुरत नहीं होती. इसमे touch स्क्रीन होती है जिसकी वजह से आपको mouse की जरुरत नहीं होती. keyboard भी touch स्क्रीन पर ही होता है.

आज हमने क्या जाना :

आज हमने जाना की, Computer kya hai, Computer का आविष्कार किसने किया?, Computer generation कौनसी है? और Computers components कोनसे है? ये आज हमने सीखा है।

Leave a Comment