7 Ashwagandha Benefits In Hindi | Ashwagandha ke fayade

Rate this post

दोस्तों आज के आर्टिकल में हम Ashwagandha Benefits In Hindi(अश्वगंधा के फायदे) क्या है यह जानने वाले है। इस आर्टिकल में आपको अश्वगंधा के आयुर्वेदिक फायदों के बारे में बताया गया है। आपको बता दू अश्वगंधा आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति की एक महत्वपूर्ण जड़ी बूटी है। इसे भारतीय जिनसेंग या विंटर चेरी के नाम से भी जाना जाता है। जड़ी बूटी की जड़ में एक विशिष्ट गंध होती है जो घोड़े के पसीने की तरह होती है, इसलिए इसे अश्वगंधा नाम दिया गया है। आयुर्वेदिक पाठ्यपुस्तक ‘भावप्रकाश’ में, अश्वगंधा के गुणों को नीचे दिए गए श्लोक में दर्शाया गया है:

गन्धान्ता वाजिनामादिरश्वगन्धा हयाद्वया। वराहकर्णी वरदा बलदा कुष्ठगन्धिनी ||

अश्वगन्धाऽनिलश्लेष्मश्वित्रशोथक्षयापहा । बल्या रसायनी तिक्ता कपायोष्णाऽतिशुक्रला ॥ -भावप्रकाश

Ashwagandha Benefits In Hindi | Ashwagandha ke fayade:

अश्वगंधा अपने रसायन (कायाकल्प) और वात संतुलन गुणों के कारण तनाव और चिंता से जुड़ी समस्याओं को हल करने में सहायता प्रदान करने के लिए जाना जाता है। ये गुण मधुमेह का इलाज करने में भी मदद कर सकते हैं। अश्वगंधा की जड़ के चूर्ण को दूध के साथ लेने से पुरुष बांझपन और स्तंभन दोष को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। यह तंत्रिका संबंधी विभिन्न समस्याओं के लिए एक तंत्रिका टॉनिक के रूप में प्रयोग किया जाता है। यह तनाव और चिंता के प्रबंधन में सहायता प्रदान करता है। यह तनावपूर्ण स्थितियों के लिए शरीर की प्रतिक्रिया को स्थिर करता है।

दोस्तों आपको बता दू की अश्वगंधा के साथ एक महत्वपूर्ण सावधानी यह है, कि महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान इसका सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि इससे गर्भाशय के संकुचन में वृद्धि हो सकती है। निचे आपको Ashwagandha Benefits In Hindi | अश्वगंधा के फायदो के बारे में सविस्तार में जानकारी दी गयी है।

Ashwagandha-Benefits-In-Hindi
Ashwagandha Benefits In Hindi | अश्वगंधा के फायदे

Benefits Of Ashwagandha In Hindi For Stress | तनाव के लिए Ashwagandha ke fayade:

तनाव आमतौर पर वात दोष के असंतुलन के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है, और अक्सर चिड़चिड़ापन, अनिद्रा और भय जैसे लक्षण दिखाई देते है। अश्वगंधा का चूर्ण लेने से वात को संतुलित करने में मदद मिलती है। इस तरह तनाव के लक्षण कम होते हैं। दोस्तों यहाँ पर आपको Ashwagandha Churna Ke Fayde दिखाई देते है।

अन्य पढ़े:

१) Haldi Ke Fayde | हल्दी के फायदे हिंन्दी में
2) शिलाजीत के फायदे हिंदी | Shilajit Ke Fayade In Hindi

1.Benefits Of Ashwagandha For Anxiety | चिंता के लिए अश्वगंधा के फायदे:

आयुर्वेद के अनुसार, चिंता बढ़े हुए वात दोष से जुड़ी है, इसलिए शरीर में अतिरिक्त वात को शांत करने पर ध्यान देना चाहिए। अश्वगंधा में वात दोष को संतुलित करने का गुण होता है और यह चिंता के इलाज करने के लिए अच्छा है।

2.Benefits Of Ashwagandha For Diabetes Mellitus (Type 1 & Type 2) | मधुमेह मेलिटस (टाइप 1 और टाइप 2) के लिए अश्वगंधा के फायदे:

आयुर्वेद के अनुसार मधुमेह की चिकित्सा दो प्रकार की होती है। एक है अपतर्पण (De-Nourishment)  और संतर्पण  (Replenishment)। अपतर्पण उपचार, मोटे मधुमेह रोगियों में कफ शरीर के प्रकार के साथ उपयोगी है। और संतर्पन उपचार आमतौर पर वात या पित्त प्रकार के शरीर वाले दुबले मधुमेह रोगियों में उपयोगी होता है। अश्वगंधा वात और कफ दोष को संतुलित करके दोनों प्रकार के उपचारों पर काम करता है।

3.Benefits Of Ashwagandha For Arthritis | गठिया के लिए अश्वगंधा के फायदे:

अश्वगंधा गठिया(Arthritis) में दर्द को कम करने के लिए उपयोगी है। आयुर्वेद के अनुसार, गठिया वात दोष के बढ़ने के कारण होता है और इसे संधिवात के रूप में जाना जाता है। यह दर्द, सूजन और जोड़ों की गतिशीलता का कारण बनता है। अश्वगंधा पाउडर में वात संतुलन गुण होता है और यह गठिया जैसे दर्द और जोड़ों में सूजन के लक्षणों से राहत देता है। दोस्तों यहाँ पर आपको एक और Ashwagandha Churna Ke Fayde दिखाई देते है।

अन्य पढ़े:

१) बादाम खाने के फायदे | Badam Khane Ke fayade
2) Kaju Khane Ke Fayde | काजू खाने के फायदे

4.Benefits Of Ashwagandha For Hypertension | उच्च रक्तचाप के लिए अश्वगंधा के फायदे:

आयुर्वेद में उच्च रक्तचाप को रक्त गत वात के रूप में जाना जाता है जिसका अर्थ है धमनियों में रक्त का उच्च दबाव। उच्च रक्तचाप के लिए आयुर्वेदिक उपचार का उद्देश्य स्थिति के मूल कारण की पहचान करना और फिर ऐसी जड़ी-बूटी लेना है जो समस्या को जड़ से खत्म कर सकती है। तनाव या चिंता भी उच्च रक्तचाप का मूल कारण है और अश्वगंधा लेने से तनाव या चिंता को कम करने में मदद मिलती है और इस प्रकार उच्च रक्तचाप को नियंत्रित किया जाता है।

5.Benefits Of Ashwagandha For Parkinson’s Disease | पार्किंसंस रोग के लिए अश्वगंधा के फायदे:

अश्वगंधा पार्किंसंस रोग के लक्षणों को नियंत्रित करने में मदद करता है। आयुर्वेद में वर्णित एक बीमारी की स्थिति ‘वेपथु’ को पार्किंसंस रोग से जोड़ा जा सकता है। यह दूषित वात के कारण होता है। अश्वगंधा चूर्ण का सेवन वात को संतुलित करता है और पार्किंसंस रोग के लक्षणों को नियंत्रित करने वाली कोशिकाओं के अध: पतन को कम करने में भी मदद करता है।

6.Benefits Of Ashwagandha For Focus And Memory |  फोकस और मेमोरी के लिए अश्वगंधा के फायदे:

अश्वगंधा निर्देश के बाद अनुभूति, स्मृति और मोटर प्रतिक्रियाओं को करने की क्षमता में सुधार करने में मदद कर सकता है। छोटे अध्ययनों से पता चला है कि, प्लेसीबो की तुलना में, अश्वगंधा ने अनुभूति और साइकोमोटर परीक्षणों के दौरान प्रतिभागियों के प्रतिक्रिया समय में काफी सुधार किया है (जो निर्देशों का जवाब देने और एक संकेतित क्रिया करने की क्षमता को मापते हैं)।

एक अध्ययन में यह भी पाया गया कि अश्वगंधा ने प्रतिभागियों के ध्यान की अवधि में काफी सुधार किया, साथ ही साथ विभिन्न परीक्षणों में उनकी तत्काल और सामान्य स्मृति में भी सुधार किया।

7.Benefits Of Ashwagandha For Male Infertility | पुरुष बांझपन के लिए अश्वगंधा के फायदे:

अश्वगंधा तनाव को कम करके पुरुष बांझपन को कम करने में मदद करता है। यह इसकी वात संतुलन संपत्ति के कारण है। यह शुक्राणु की गुणवत्ता और मात्रा में सुधार करके पुरुष बांझपन की संभावना को कम करने में भी मदद करता है। यह इसकी वृष्य (कामोद्दीपक) संपत्ति के कारण होता है।

दोस्तों यह सब जानकरी www.1mg.com/ayurveda/ashwagandha-1 इस साईट से ली गई है. अधिक जानकारी के लिए यहाँ पर जाकर पढ़ सकते है.

Leave a Reply